शीघ्रपतन का इलाज | Shighrapatan Ka Ilaj In Hindi

- April 27, 2017
शीघ्रपतन का इलाज : सम्भोग जीवन का एक अहम् अंग है, अगर आप शादीशुदा है तो आप सम्भोग का अनुभव और आनंद जानते होंगे। सम्भोग करने में जितना अधिक से अधिक वक़्त लगे उसका आनंद भी उतना हो अधिक आता है, साथ ही इतना टाइम देना आवश्यक होता है जितने टाइम में आपका पार्टनर खुश हो सके या संतुष्ट हो सके। लेकिन जब यही वक़्त कम लगे तो सम्भोग क्रिया में आनंद नहीं आता और साथी को भी सम्पूर्ण आनंद नहीं मिल पाता जिससे आपसी मन मुटाव बनते हैं। तो इसी लिए आज मैं आपके लिए शीघ्रपतन का इलाज हिंदी में लेकर आया हूँ , इस आर्टिकल में आप जानेंगे।
Shighrapatan ka ilaj in hindi


  1. शीघ्रपतन क्या होता है
  2. शीघ्रपतन का कारण
  3. शीघ्रपतन के लक्षण
  4. शीघ्रपतन का इलाज
  5. शीघ्रपतन में क्या खाएं


शीघ्रपतन क्या होता है:


जब पुरुष और स्त्री संभोग क्रिया करते है और पुरुष सम्भोग करते समय लिंग को योनि में प्रवेश करते ही स्खलित हो जाये या 1 मिनट में ही स्खलित हो जाये तो इसे शीघ्रपतन कहा जाता है। शीघ्रपतन होने पर सम्भोग का असली आनंद नहीं आता परंतु पुरूष को आनंद की अनुभूति हो जाती है और वही दूसरी ओर उसका साथी चरम की अवस्था में जाने से पहले ही रह जाता है और उसे आनंद की अनुभूति नहीं मिल पाती बल्कि कभी कभी ऐसे में साथी चिढ़चिढ़ा हो जाता है।

जो लोग इस समस्या से जूझ रहे हैं वो समझते हैं कि वो और उनका साथी सम्भोग के विषय में कितना संतुष्ट हैं। अगर आपका साथी समझदार है और लोक लज्जा को समझता है तो वह कभी भी गलत कदम नहीं उठाएगा जबकि ऐसे मामलों में देखा गया है कि जो लोग अपने साथी को संतुष्ट नहीं कर पाते, तो उनका साथी किसी दूसरे के साथ संपर्क बना कर अपनी तृष्णा को मिटाता है। इसलिए ज़रूरी है कि आप अपने इस रोग का इलाज जल्दी से जल्दी करें। शीघ्रपतन का इलाज किया जा सकता है आपको कुछ बातें ध्यान में रखनी होंगी और अपनी सेहत का ध्यान रखना होगा।

शीघ्रपतन का कारण क्या है:


बहुत  से लोग बचपन से ही इसको अपने अंदर पलने लगते हैं। जब किशोरावस्था आती है तो मन बहुत चंचल हो जाता है और शरीर में पौरुषोत्व के हार्मोन बनना शुरू हो जाते हैं, लेकिन ऐसे में अगर किशोर किसी गलत संगती में पड़कर ऐसी क्रियाएं सीख जाये जिससे शीघ्रपतन जैसी समस्या उत्पन्न होती है, तो यह उसके लिए घातक होता है। हस्तमैथुन की क्रिया उनमे से एक है। हालाँकि हस्तमैथुन गलत नहीं है, स्वयं की आत्मा संतुष्टि के लिए यह अछि क्रिया है परंतु हस्तमैथुन करते समय कोई जल्दवाजी न करें, इसे वास्तविक में जियेंगे तो इसका आनंद भी आएगा साथ ही इसका कोई दुष्प्रभाव भी नहीं होगा। शीघ्रपतन होने के कुछ कारण निम्न हैं।


  • हस्तमैथुन करना
  • क्रोध का आना
  • लज्जा होना
  • वीर्यनालिका में कमजोरी
  • वीर्यंनली में खुश्की
  • अधिक दवाओं का सेवन
  • बाजार के सस्ते प्रोटीन पाउडर खाना
  • पौस्टिक भोजन न करना
  • हड़बड़ी में सम्भोग करना
  • वीर्य निकल जाने पर ज्यादा विचार करना


जैसा की आपने कुछ कारण ऐसे देखे जो हमारे नेचर को लेकर हैं जैसे गुस्सा आना, शर्मीला व्यवहार और हड़बड़ी। अगर आप क्रोध में रहकर सभोग करेंगे तो आपको कभी आनंद नहीं आएगा, आप केवल अपनी हवस मिटा रहे हैं और यह भी ध्यान नहीं देते की आपका साथी आपसे खुश है या नहीं है।

वहीँ दूसरी ओर आप यदि शर्मीले रहेंगे तो खुलकर आप सम्भोग क्रिया नहीं कर पाएंगे। स्त्री की तो प्रवत्ति ही शर्मीली होती है और यदि पुरुष भी शर्मीला होगा तो आप इस सुखद अनुभव का आनंद नहीं ले पाएंगे। याद रहे सम्भोग केवल बच्चे पैदा करने और वासना मिटाने के लिए ही नहीं किया जाता है। सम्भोग एक योग है जिसे करना सभी को नहीं आता और इसका 100 प्रतिशत आनंद और लाभ लेना ही चरम आनंद कहलाता है। जो इसका लाभ लेते हैं उनका वैवाहिक जीवन सुखमय होता है और उनका मष्तिक शांत और शरीर आनंदपूर्ण होता है।

हड़बड़ी में सम्भोग का अर्थ है कि जल्दवाजी करना। सोचिये आप सम्भोग कर रहे हैं और आप करते करते यह विचार करने लगते हैं कि वीर्य निकल जाये, तो आपका वीर्य जल्दी निकल जाता है। कभी कभी ऐसा भी होता है कि पहले कभी वीर्य जल्दी निकला हो और हर बार यही सोचना की कहीं आज भी न वीर्य निकल जाये तो ऐसे में आपका ध्यान फिर वीर्य पर चला जाता है और आपका वीर्य फिर जल्दी निकल जाता है, और आप सुखद आनंद से हाँथ धो बैठते हैं।

बाजार में आपने देखा होगा बॉडी बनाने के लिए न जाने कितने पाउडर आते हैं, आप उनका सेवन बॉडी बनाने के लिके पीते है लेकिन इसका प्रभाव आपके होर्मोन पर पड़ता है, शारीरिक कमजोरी, मरदाना ताकत की कमजोरी, वीर्य का पतला होना, वीर्य की माता काम होना, शुक्राणु काम हो जाना जैसी समस्याएं आने लगती हैं, इसलिए बाजार के इन सस्ते प्रोटीन पाउडर से बचना चाहिए, साथ में सेक्स टाइम बढ़ाने और ताकत बढ़ने वाले प्रोडक्ट और गोलियों को नहीं खाना चाहिए।

अगर नालिकायो का ही कोई प्रॉब्लम है, जैसे सम्भोग करने पर वीर्य न निकलना। तो आपको इसके लिके अच्छे sexologist से मिलना चाहिए न की नीम हकीमों के पास जाना चाहिये। इसके लिए आपको कोई शर्म नहीं आनी चाहिए।

शीघ्रपतन का इलाज इन हिंदी


मैं आपको शीघ्रपतन का इलाज तो बताऊंगा ही लेकिन आपको मानसिक रूप से स्वयं को मजबूत करना होगा और ऐसे विचार बिलकुल भी पैदा नहीं करने हैं जिससे शीघ्रपतन की समस्या पैदा हो। तो चलिये जानते हैं shighrapatan ka ilaj in hindi.


  • 6 या 7 बादाम रात को भिगा दे, सुबह इन बादमो में 20 ग्राम सोंठ, 20 ग्राम मिश्री, 10 ग्राम काली मिर्च मिला दे और अच्छे से पीस ले। अब एक गिलास दूध के साथ इसका सेवन रोज़ाना करें। एक महीने तक खाकर देखें आपको फायदा होना शुरू हो जायेगा और 15 दिनों में ही असर शुरू हो जायेगा।


  • व्यायाम करना सभी के लिए और हर रोग के लिए लाभदायक होता है। अगर आपको शीघ्रपतन का इलाज करना चाहते हैं तो रोज़ सुबह exercise करें और अपने शरीर से पसीने को बाहर करें। शुरू में दोनों टाइम exercise करें 15 दिन में आपको अलग ही अनुभव होगा। आप अपने आप को पहले से बलवान महसूस करेंगे और आपका confidence भी पहले से ज्यादा होगा।


  • रात को सोने से पहले 7 या 8 मुनक्के पानी में भीग दे और सुबह भीगे मुनक्के का पानी और मुनक्के चवाकर खाएं। ऐसा करने से 15 दिनों में ही आपका वीर्य गाढ़ा हो जायेगा और जब वीर्य गाढ़ा हो जायेगा तो ये नसों में बगत धीमे दौड़ेगा जिससे संभोग करने का टाइम बढ़ जायेगा।


  • भीगे हुए चने या फिर भुने हुए चनों के साथ में पिसी बादाम और मिश्री खाने से मरदाना ताकत बढ़ जाती है और रोगी का वीर्य गाढ़ा हो जाता है, इस नुस्खे के प्रयोग से शीघ्रपतन का इलाज किया जाता है।


  • भीगे हुए चने में चीनी या गुड़ मिलाकर रात को या शाम को रोज़ाना खाने से वीर्य पुष्टवान हो जाता है और पुरुष का वीर्य संभोग के समय जल्दी नहीं निकलता है।


  • तुलसी को मर्दाना ताकत बढाने के लिए बहुत प्रयोग किया जाता है। इसलिए रोज़ाना शाम को तुलसी के 10 पत्ते चवाकर खाएं। यह आपके वीर्य को गाढ़ा करेगा।


  • तुलसी की जड़ भी तुलसी की तरह ही काम करती है इसका काम भी मर्दाना ताकत बढ़ने के लिए प्रयोग किया जाता है। तुलसी की जड़ को साफ़ करके पान के पत्ते पर रखकर चवाकर खाएं।


  • जॉली तुलसी 51 का नाम आपने सुना है या नहीं अगर आपको tulsi extract मिल जाये तो रोज़ाना 5 बूँद tulsi extract की सुबह या शाम को पियें। तुलसी का extract लेने से कई लाभ होते हैं मरदाना ताकत बढ़ाने के लिए मतलब की शीघ्रपतन के घरेलू उपचार के लिए इसका प्रयोग बरसों से किया जा रहा है।


  • कतीरा नाम की औषदि आपको आयुर्वेदिक स्टोर पर मिल जायेगी यह औषधि बहुत लाभकारी है। कतीरा को सुख कर पीस कर चूर्ण बना लें। अब इसे रात को भिगा दे। सुबह मिश्री के साथ खाने से मर्दाना ताकत बढ़ती है और वीर्य का पतलापन सही हो जाता है।


  • तुलसी के पत्ते या तुलसी की जड़ की जगह पर तुलसी के बीज का प्रयोग भी किया जाता है, इन बीजों में मिश्री मिलाकर खाने से वीर्य पुष्टवान हो जाता है और शीघ्रपतन नहीं होता है।


ये तो रहे कुछ शीघ्रपतन के घरेलू नुस्खे जिससे मर्दाना ताकत आती है और कमजोर शरीर को ताकत मिलती है जिससे शीघ्रपतन और वीर्य के पतलेपन की समस्या ख़त्म हो जाती है।

रात को सोते समय गर्म दूध न पिए इससे स्वप्नदोष हो जाता है। और जैसा की मैंने पहले भी बताया है कि आपको सम्भोग करने में कोई जल्दवाजी नहीं करनी है। रुक रुक कर ठकड़ा टाइम लेकर ही सम्भोग करें और इसका आनंद लें।

अगर आपको मेरा यह आर्टिकल पसंद आया है तो आप अपने दोस्तों को शेयर कर सकते है या किसी को यह समस्या है तो उसे ईमेल या व्हाट्सएप्प पर लिंक भेज सकते हैं।
Advertisement
 

Start typing and press Enter to search